If the clouds had a tongue to speak?


Image result for beauty of nature

Advertisements

6 thoughts on “If the clouds had a tongue to speak?”

  1. परम आदरणीय .
    मै उपरोक्त पर कुछ लिखने का प्रयत्न कर रहा हू. सर, एक तो हिंदी मे लिख रहा हू दूसरे लेख निबंधात्मक हो गया है किसी भी त्रुटि के लिए क्षमा कर दीजिएगा.
    सर अगर बादल को रसना मिल जाय तो बरसने के पहले ही धरती पर शीतल वायु के माध्यम से अपने आगमन का संदेश अवश्य भेज देगा. संदेश पाते ही धरती इठ्ला उठेगी. पशु पक्षी जीव जंतु एव् आदमी शीतलता का अनुभव करते हुए आकाश् की ओर देखने लगेगे. उन्हे देख कर बाद्ल गा उठेगा.बादल को गाता देख कर युवतिया अपने अपने झूले डा ल कजरी का गीत छेड देगी. और बादल भी उंनकी राग मे अपनी बादल राग को मिलाकर कोई तराना छेड देगा, फिर क्या मोर दूने जोश के साथ नाचने लगेगा.. बादल की बूंदो की थाप पर कोयल भी अपनी मीठी तान का प्रदर्शन करने लगेगी.बेचारा पपीहा वही पी कहाँ पी कहाँ रट्ता हुवा मौसम को और विद्ग्ध कारी बनादेगा. रही कालिदास जैसे कवियो की बात तोए महशय बादल को दूत बनाकर तो जरूर भेजेगे पर संदेश नही देगे . वे इन्हे पत्र ही देगे.प्रियतमा की बात गुप्त ही होनी चहिए. प्रक्रित रानी के उल्लास का तो ठिकाना ही नही रहेगा. कभी फूलो को देख कर उमंग मे भर जाएगी और कभी धरती के कान मे कुछ कह कर स्वम शरमा जाएगी धरती से लेकर आसमान तक सभी बादल के साथ गुंगुना लगेगे. . सर, लेकिन बादल से एक प्रार्थना करनी होगी कि हे बादल अब तुम गरा

    Like

  2. गतांक से आगे………
    गरजना मत . छोटे छोटे बच्चे डर जाते है. बच्चो का ख्याल रखना. वैसे बादल तुम त्याग की मूर्ति हो तुम बैरागी हो.क्या कहू तुम्हे तुम गीध जटायू हो या तुम्हे दूसरा दधीचि कहू.कौन करेगा इतना दूसरो के लिए. .किसी नेतुम्हारे बारे मे लिखा है कि
    दुनिया मे कोई नही बादल जैसा संत
    औरो को दे जिंदगी खुद का करके अंत.
    धन्य हो बादल वाकही मे तुम महान संत हो. बार बार प्रणाम तुम्हे .हजार बार प्रणाम तुम्हे.

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s